सत्यम, शिवम एवं सुन्दरम’ की संकल्पना के साथ दूरदर्शन का उद्देश्य विश्वसनीय समाचारों, संतुलित विचारधाराओं, अभिनव कार्यक्रमों तथा स्वस्थ्य मनोरंजन के माध्यम से जन-तन तक अपनी पहुंच बनाने का है। जयपुर दूरदर्शन केन्द्र राजस्थान के जनजीवन, साहित्य, कला एवं संस्कृति के विविध रंगों को प्रतिबिम्बित करने के लिए प्रयत्नशील हैं यह राज्य के गौरवशाली अतीत एवं गतिशील वर्तमान को ही चित्रित नहीं करता है बल्कि मानव समाज के पुनः रूपांकन के लिए भी प्रयासरत है।
 

दूरदर्शन संवाद के माध्यम से समाज के सभी वर्गो में अपसी समझ और सद्भावना को संजोये रखने में मदद कर, प्रवर्तक की भूमिका तो निभाता ही है साथ ही लोगों में वैज्ञानिक रूझान का संवर्धन करने की कोशिश भी करता है। दूरदर्शन का प्रयास जातिवाद और अंधविश्वासों के विरूद्ध आवाज उठाकर नये समाज का पुनर्निमाण करना है।